Home राज्यों से Uttar Pradesh jaunpur होली का रंग आपका त्यौहार कर सकता है भंग, रहें सावधान : डॉ.श्याम दत्त दुबे
होली का रंग आपका त्यौहार कर सकता है भंग, रहें सावधान : डॉ.श्याम दत्त दुबे

होली का रंग आपका त्यौहार कर सकता है भंग, रहें सावधान : डॉ.श्याम दत्त दुबे

5
0

जौनपुर। रंगों के त्योहार होली की बहार है। हर तरफ उल्लास का वातावरण है। बाजारें रंगों, गुलाल एवं खाने-पीने की चीजों से सज गया है। होली में खूब रंग खेले, खूब गुलाल उडाएं परन्तु बाजार में सजे केमिकल वाले रंगो से बचें क्योकि यह रंग आपकी होली को बेरंग कर सकते हैं। इसीलिए होली मनाने से पहले कुछ सावधानियां बरते जिससे होली का रंग बेरंग ना हो और होली की खुशियाँ बरकरार रहे। सभी दुकानो पर रसायनयुक्त केमिकल रंग मिलते ह़ै। ये रंग हमारी त्वचा,आंखो,चेहरे के लिये हानिकारक होते है।
इसलिये अपनी त्वचा पर सरसों या नारियल का तेल लगाकर ही रंग खेले,अथवा कुमकुम,टेसु,पलास, गुलाब,आदि पौधो के फल बीज फूल पत्ती का रंग बनाकर खेले। इस बारे में रखी जाने वाली सावधानियों के बारे में मड़ियाहूँ पी.जी.कालेज के भूगोल विभाग के सहायक प्रोफेसर डा.श्याम दत्त दुबे ने होली के त्योहार पर विचार व्यक्त करते हुए बता रहे हैं।

होली में हर व्यक्ति एक-दूसरे को रंग लगाकर अपनी आत्मीयता का इजहार करता है, परन्तु उसे यह नहीं मालूम कि जो रंग वह लगा रहा है वह रसायनिक रंग है जिससे त्वचा को नुक्सान पहुँच सकता है, श्वास एवं एलर्जी की बीमारी हो सकती है। बाजार में बिकने वाले हरे रंग में तांबा, काले रंग में नाइट्रेट आॅक्साइड, परपिल रंग में क्रोमाइड, सिल्वर कलर में एल्युमिनियम ब्रोमाइड, लाल रंग मारकरी सल्फेट रसायनों से बनता है। यह सभी रसायनिक रंग त्वचा पर जलन खुजली, दाने, एलर्जी, श्वास की तकलीफ उत्पन्न कर सकते हैं जो आपकी होली को बदरंग कर सकते है इसलिए रंग खेलने में प्राकृतिक रंगों का प्रयोग ही करना चाहिए।

होली में गुलाल भी खूब उड़ाया जाता है। बाजार में मिल रहे गुलाल में अवरक का इस्तेमाल होता है। इसमें बालू तथा अन्य रसायन पड़ें रहते है। इससे दमा का प्रकोप हो सकता है। साथ ही त्वचा में जलन, खुजली की समस्या हो सकती है। त्वचा खुरदरी हो सकती है इसलिए हर्बल गुलाल का प्रयोग करना चाहिए। रंग के स्थान पर पेंट, तारकोल, कीचड़ आदि का प्रयोग बिल्कुल न करें इससे त्वचा बदरंग हो सकती है। रंग खेलने से पहले शरीर पर तेल आवश्य लगा लें।

(5)

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *